नरक चतुर्दशी

2022 में नरक चतुर्दशी कब है?

24 अक्टूबर, 2022

(सोमवार)

नरक चतुर्दशी का मुहूर्त

अभ्यंग स्नान समय : 05:04:59 से 06:27:13 तक

अवधि : 1 घंटे 22 मिनट

नरक चतुर्दशी

नरक चतुर्दशी कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाने वाला एक त्यौहार है। इसे नरक चौदस, रूप चौदस और रूप चतुर्दशी भी कहा जाता है।

पौराणिक मान्यता के अनुसार इस दिन मृत्यु के देवता यमराज की पूजा का विधान है। दीपावाली से ठीक एक दिन पहले मनाये जाने की वजह से नरक चतुर्दशी को छोटी दिवाली भी कहा जाता है।

नरक चतुर्दशी के दिन शाम के समय दीये जलाए जाते हैं। इस दिन यमराज की पूजा कर अकाल मृत्यु से मुक्ति और बेहतर स्वास्थ्य की कामना की जाती है।

इसके अलावा नरक चौदस के दिन प्रात: काल सूर्य उदय से पहले शरीर पर तिल्ली का तेल मलकर और अपामार्ग (चिचड़ी) की पत्तियां पानी में डालकर स्नान करने से नरक के भय से मुक्ति मिलती है और मनुष्य को स्वर्ग की प्राप्ति होती है।

दिवाली

आनंद संदेश

Leave a Comment