श्रावण महात्मय अध्याय

श्रावण महात्मय

इस कलिकाल में श्रावण महात्मय अध्याय का पाठ सर्व फलदायक होने के साथ मुक्तिदायक भी है। नित्य पाठ से जो आनन्द की अनुभूति होती है, वह पाठ करने वाले भली प्रकार जानते हैं। किसी भी सत्य कार्य में सहायता देना भी भक्ति का अंग है।