पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में भजन लिरिक्स

पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में भजन पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में एक दुसरे का दुःख बाटता नही कोई सब यहाँ पे उलझे है अपनी अपनी उलझन में वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में जान से भी … Read more

श्री बाँकेबिहारी की अँगूठी लीला

श्री बाँकेबिहारी की अँगूठी लीला श्री बाँकेबिहारी जी की सेवा का अवसर वर्ष में कम से कम एक बार प्रत्येक गोस्वामी को उपलब्ध होता है । उस दिन सेवा करने का सौभाग्य हमारे ही परिवार को प्राप्त था । सन्ध्या का समय था । ठण्ड कुछ बढ़ चली । मेरा छोटा भाई | श्रीविहारीजी महाराज … Read more

Hariyali Teez Vrindavan | हरियाली तीज के लिए हरा-भरा होता है ब्रज

yatra40

Hariyali Teez Vrindavan वृन्दावन में हरियाली तीज की छटा निराली होती है। नीचे नीले रंग की बहती – उफनती इठलाती श्री यमुना और उसके ऊपर ओलरते काले और सघन मेघ । कभी नीचे, कभी ऊपर । न जाने कहाँ से बहते ही चले आते हैं आकाश में, नगाड़े बजाते हुए। कभी बरसते हैं, कभी खुल … Read more

Prem Mandir Vrindavan

Prem Mandir Varindavan

Prem Mandir Vrindavan प्रेम मंदिर वृंदावन के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। कहते हैं भगवान या महापुरुष कोई भी संकल्प लेते हैं तो कुदरत भी उसको पूरा करने में जुट जाती है। और उनके संकल्प हमेशा हम जैसे जीवो के हित के लिए ही होते हैं। सांसारिक जीवों को भक्ति पथ पर लाने के … Read more

भक्तिमति मणि – बाकें बिहारी का चमत्कार और लीला

बांके बिहारी के चमत्कार

बाकें बिहारी का चमत्कार लगभग सवा सौ वर्ष पहले की बात है । तब वृन्दावन एक छोटा-सा नगर था। नगर के बीचों-बीच एक चौड़ा मार्ग था जो रेल लाईन को काटता हुआ मथुरा जाने वाले मार्ग से जुड़ा हुआ था। रेल की इस क्रासिंग के चारों ओर दावानल कुण्ड, कैमार वन और मोतीझील का सघन … Read more

मन नाम जप पर केन्द्रित नहीं रह पाता है क्या करें?

मन नाम जप पर

मन नाम जप पर केन्द्रित – प्रश्न: हमारी जिह्वा नाम जप तो कर रही होती है परंतु मन नाम जप पर केन्द्रित नहीं रह पाता है? क्या करें? उत्तरः श्रीकृष्ण का नाम, रूप, लीला, गुण, धाम एक स्वरूप हैं इसलिए नाम जप करते हुए आरंभ में नाम पर ध्यान करना चाहिए और जब इससे मन … Read more

वृंदावन | Vrindavan

vrindavan

वृंदावन धाम का सनातन धर्म में महत्वपूर्ण स्थान है।वृंदावन राधा माधव का वास स्थान है। इ कुंज गलियों में श्रीकृष्ण की मोहिनी सूरत आज भी महसूस की जा सकती है। राधा- कृष्ण की रासलीला का साक्षी वृंदावन उन वैष्णवों का स्थान है जो अपने गृहस्थ जीवन की सुखद अनुभूतियों को भोगने के पश्चात् जीवन में … Read more

हम अपना जीवन नष्ट कर रहे हैं कैसे ?

हम अपना जीवन नष्ट कर रहे हैं कैसे ? अतएव हमें अपनी इन्द्रियों को भौतिक सुख बढ़ाने के लिए प्रेरित करने के इच्छुक न बनकर कृष्णभावनामृत का अभ्यास करके आध्यात्मिक सुख पाने का प्रयास करना चाहिए। जैसाकि प्रह्लाद महाराज कहते हैं, “यद्यपि इस मानव शरीर में तुम्हारा जीवन क्षणिक है, किन्तु है अत्यन्त मूल्यवान्। अतएव … Read more

Radhe Krishna status or shayari in hindi

Radhe Krishna status

Radhe Krishna status [ श्रीकृष्णके प्रति ] सदा सोचती रहती हूँ मैं, क्या दूँ तुमको, जीवनधन! जो धन देना तुम्हें चाहती, तुम ही हो वह मेरा धन ॥ तुम ही मेरे प्राणप्रिय हो, प्रियतम! सदा तुम्हारी मैं । वस्तु तुम्हारी तुमको देते पल-पल हूँ बलिहारी मैं । प्यारे ! तुम्हें सुनाऊँ कैसे अपने मनकी सहित … Read more