“आसमान को छूकर देखा” लिरिक्स- Hanuman ji Bhajan

आसमान को छूकर देखा

आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी
चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी


आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी
चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी

आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी
चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी
आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी


चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी
क्या करूँ और क्या नहीं
बात किसी से कही नहीं
मौज मस्ती की आदत मेरी
बचपन से गयी नहीं

पागलपन यह कैसा है
कम यह जैसा तैसा है
सोच की नजाकत है
थोड़ी सी शरारत हैं
टेढ़ा यह सामान क्यों
आफत में जान क्यूँ है


मच रहा बवाल क्यों
है उल्टा यह दिमाग क्यों हैं
आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी
चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी

आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी
चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी

यह यह यह आँख मिचौली
चोर डाकू भूत कोहली
बूम बूम बजरंग
बलि महाबलि महाबलि
खलबली ही खलबली
देखो है हो चली
धरती सागर तारे
राज मई है प्यार


आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी
चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी
आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी
चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानी से यारी

क्या करूँ और क्या नहीं
बात किसी से कहीं नहीं
मौज मस्ती की आदत मेरी
बचपन से गयी नहीं
आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी


चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी
आसमान को छूकर देखा
तारों की करली सवारी
चाँद पर भी नाचे
हम की तुफानो से यारी

तेरी करुणा से सबकी भजन लिरिक्स

कैसे ध्यान की शक्ति से अपने सपनों को हकीकत में बदल सकते हैं?

आसमान को छूकर देखा pdf

Leave a Comment